₹10 लाख से ₹1 करोड़ तक बैंक ऋण Stand-Up India - Informationbaba

₹10 लाख से ₹1 करोड़ तक बैंक ऋण Stand-Up India

Stand-Up India

स्टैंड-अप इंडिया

विवरण

बैंक ऋण की सुविधा के साथ विनिर्माण सेवाओं, व्यापार क्षेत्र आदि में ग्रीनफील्ड परियोजना उपक्रम स्थापित करने के लिए एस.सी./एस.टी. और/या महिला उद्यमियों के वित्तपोषण हेतु वित्त मंत्रालय की एक योजना। ग्रीनफील्ड उपक्रम स्थापित करने के लिए प्रति बैंक शाखा से न्यूनतम एक अनुसूचित जाति (एस.सी.) या अनुसूचित जनजाति (एस.टी.) ऋणकर्ता और न्यूनतम एक महिला ऋणकर्ता को ₹10 लाख से ₹1 करोड़ तक के बैंक ऋण प्रदान करने में सुगमता इस योजना का उद्देश्य है। यह उपक्रम विनिर्माण, सेवाओं या व्यापारिक क्षेत्र में हो सकता है। गैर-व्यक्तिगत उपक्रम के मामले में न्यूनतम 51% शेयरधारिता एवं नियंत्रण भागीदारी एस.सी./एस.टी. या महिला उद्यमी की होनी चाहिए।

फ़ायदे

  1. ₹10 लाख से लेकर ₹100 लाख तक के कम्पोजिट ऋण (सावधि ऋण एवं कार्यशील पूंजी सहित) के लिए सुगमता। ऋणकर्ता की सुविधा के लिए रुपे डेबिट कार्ड जारी किया जाएगा।
  2. प्रशिक्षण, कौशल विकास, परामर्श, परियोजना रिपोर्ट तैयार करने, आवेदन भरने, वर्क शेड/उपयोगिता सहायता सेवाओं, सब्सिडी योजनाओं आदि में संलग्न एजेंसियों के नेटवर्क के माध्यम से सिडबी का वेब पोर्टल सहायता प्रदान करता है।

पात्रता

  1. आवेदक उद्यमि ही होनी चाहिए।
  2. यदि आवेदक पुरुष है तो उसे एस.सी./एस.टी. श्रेणी से होना चाहिए।
  3. आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए।
  4. आवेदक किसी बैंक/वित्तीय संस्थान के लिए भुगतानचूककर्ता नहीं होना चाहिए।

आवेदन प्रक्रिया

ऑनलाइन
आवेदन करने के लिए अपनी निकटस्थ बैंक शाखा से संपर्क करें (अपनी निकटस्थ बैंक यहां खोजें – https://www.rbi.org.in/Scripts/query.aspx)
 
या लीड डिस्ट्रिक्ट मैनेजर (एल.डी.एम) के माध्यम से (अपने जिले के एल.डी.एम. का पता एवं ईमेल यहां देखें – https://www.standupmitra.in/LDMS#NoBack)
 
या पोर्टल के माध्यम से आवेदन करें: www.standupmitra.in
 
प्रक्रिया:
  1. सबसे पहले, स्टैंडअप इंडिया के आधिकारिक पोर्टल पर जाएं: https://www.standupmitra.in/Login/Register
  2. व्यवसाय के अवस्थान का पूर्ण विवरण भरें।
  3. एस.सी., एस.टी., महिला के बीच श्रेणी का चुनें और यह कि क्या भागीदारी 51% या इससे अधिक है।
  4. प्रस्तावित व्यवसाय की प्रकृति; ऋण राशि, व्यवसाय का अपेक्षित विवरण, परिसर का विवरण आदि चुनें।
  5. विगत व्यावसायिक अनुभव तथा कार्यावधि वाले फील्ड भरें।
  6. आवश्यक हैंड-होल्डिंग की ज़रूरत चुनें।
  7. समस्त वांछित व्यक्तिगत विवरण भरें, जिसमें उपक्रम का नाम एवं अंतर्नियक सम्मिलित हैं।
  8. अंत में, प्रक्रिया पूरी करने के लिए रजिस्टर बटन चुनें।
 
पंजीकरण पूरा कर लेने पर आप संबंधित वित्तीय संस्थान में स्टैंडअप इंडिया के अंतर्गत ऋण आवेदन प्रक्रिया शुरू करने के लिए पात्र होते हैं, जिसके पश्चात स्टैंडअप इंडिया की ऋण प्रक्रिया एवं आवश्यक औपचारिकताएं पूरी करने के लिए अधिकारी आपसे संपर्क करते हैं।
 

आवश्यक दस्तावेज़

  1. पहचान प्रमाणपत्र : मतदाता पहचान पत्र / पासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस / पैन कार्ड / मालिक के वर्तमान बैंकरों, निदेशक के भागीदार (यदि कोई कंपनी है) से हस्ताक्षर की पहचान)
  2. निवास का प्रमाण: हाल के समय का टेलीफोन बिल, बिजली बिल, प्रोपराइटर , निदेशक का भागीदार (यदि कोई कंपनी है) का संपत्ति कर की रसीद / पासपोर्ट / मतदाता पहचान पत्र
  3. व्यापार पते का प्रमाण
  4. प्रमाण जो बताता है कि आवेदक किसी बैंक/वित्तीय संस्थान में डिफाल्टर नहीं है
  5. कंपनी के ज्ञापन और संस्था के अंतर्नियम/भागीदारों का भागीदारी विलेख आदि।
  6. नवीनतम आयकर विवरणी के साथ प्रमोटरों और गारंटरों की परिसंपत्ति और देयताओं का विवरण।
  7. मकान किराया अनुबंध (रेंट एग्रीमेंट) (यदि व्यावसायिक परिसर किराए पर है) और यदि लागू हो तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मंजूरी।
  8. एसएसआई / एमएसएमई पंजीकरण (यदि लागू हो)
  9. कार्यशील पूंजी सीमा के मामले में अगले दो वर्षों के लिए और सावधि ऋण के मामले में ऋण की अवधि के लिए अनुमानित तुलन-पत्र।
  10. प्राथमिक और संपार्श्विक प्रतिभूतियों के रूप में दी जा रही सभी परिपत्तियों के पट्टा विलेख /हकदारी विलेख की छायाप्रति।
  11. वे दस्तावेज जिससे यह साबित हो कि आवेदक अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग से संबंधित है, जहां कहीं लागू हो।
  12. आरओसी से निगमन का प्रमाण पत्र साबित हो सके कि कंपनी में बहुमत हिस्सेदारी एससी / एसटी / महिला वर्ग से संबंधित व्यक्ति के हाथ में है या नहीं।
 
25 लाख रू. से अधिक ऋण जोखिम वाले मामलों के लिए:
  1. यूनिट का प्रोफाइल (कंपनी में प्रवर्तकों, अन्य निदेशकों के नाम, की जा रही गतिविधियाँ, सभी कार्यालयों और संयंत्रों के पते , शेयरधारिता पैटर्न आदि सहित)।
  2. सहयोगी/समूह कंपनियों (यदि कोई हो) की पिछले तीन वर्षों का तुलन-पत्र।
  3. परियोजना रिपोर्ट (प्रस्तावित परियोजना के लिए यदि सावधि निधीयन की आवश्यकता है) में प्राप्त की जाने वाली मशीनरी का विवरण, जिससे प्राप्त किया जाना है, आपूर्तिकर्ताओं के नाम, मशीनों की क्षमता जैसे वित्तीय विवरण, स्वीकृत उपयोग की क्षमता, उत्पादन, बिक्री, अनुमानित लाभ और हानि और ऋण की अवधि के लिए तुलन-पत्र, श्रम का विवरण, काम पर रखे जाने वाले कर्मचारी, ऐसे वित्तीय विवरणों की धारणा के आधार आदि।
  4. विनिर्माण प्रक्रिया, यदि लागू हो, कंपनी में अधिकारियों की प्रमुख प्रोफ़ाइल, कोई टाई-अप, उपयोग किए गए कच्चे माल और उनके आपूर्तिकर्ताओं के बारे में विवरण, खरीदारों के बारे में विवरण, प्रमुख-प्रतिस्पर्धियों के बारे में विवरण और उनके प्रतिस्पर्धियों की तुलना में कंपनी की मजबूती और कमजोरियों के बारे में आदि।
 

Ministry Of Finance

Stand-Up India

Details

A scheme by Ministry of Finance for financing SC/ST and/or Women Entrepreneurs by facilitating bank loans for setting up a greenfield project enterprise in manufacturing, services, trading sector and activities allied to agriculture. The objective of this scheme is to facilitate bank loans between Rs. 10 lakh and Rs. 1 Crore to at least one Scheduled Caste (SC) or Scheduled Tribe (ST) borrower and at least one woman borrower per bank branch for setting up a greenfield enterprise. In case of non-individual enterprises, at least 51% of the shareholding and controlling stake should be held by either an SC/ST or Woman entrepreneur.

Benefits

  1. Facilitation of composite loan (inclusive of term loan and working capital) between ₹10 Lakh and ₹100 Lakh. Rupay debit card to be issued for convenience of the borrower.
  2. The web portal by SIDBI provides hand-holding support through a network of agencies engaged in training, skill development, mentoring, project report preparation, application filling, work shed / utility support services, subsidy schemes etc.

Eligibility

  • Finance is provided for Greenfield Enterprises.
  • If the applicant is a male, he must be from SC / ST category.
  • The age of the applicant must be at least 18 years.
  • The applicant must not be in default to any bank/financial institution.

Application Process

Online
Either approach your nearest bank branch to apply (locate your nearest bank here – https://www.rbi.org.in/Scripts/query.aspx )
 
Or Through the Lead District Manager (LDM) (find the address and the email of the LDM of your district here – https://www.standupmitra.in/LDMS#NoBack)
 
Or Apply Through Portal : www.standupmitra.in
 
Process:
  1. The first step is to visit the official portal of StandUp India at: https://www.standupmitra.in/Login/Register
  2. Enter the full details of the business location.
  3. Select the category between SC, ST, Woman, and whether the stake held is 51% or higher.
  4. Select the nature of the proposed business; the loan amount desired description of the business, the details of the premises, etc.
  5. Populate the fields with past business experience, including tenure.
  6. Select the need for hand-holding is required.
  7. Enter all the personal details sought, which include the name of the enterprise and the constitution.
  8. The last step is to select the register button to complete the process.
 
Once you have completed registration, you are eligible to initiate the StandUp India Loan Application process with the respective financial institution for the officials to contact you for completing the StandUp India Loan Process and requisite formalities.
 

Documents Required

  1. Proof of Identity: Voter’s ID Card / Passport / Driving License / PAN Card / Signature identification from present bankers of proprietor, partner of director ( if a company)
  2. Proof of Residence: Recent telephone bills, electricity bill, property tax receipt /Passport / voter’s ID Card of Proprietor, partner of Director (if a company)
  3. Proof of Business Address
  4. Proof that the applicant is not a defaulter in any Bank / Financial Institution
  5. Memorandum and articles of association of the Company / Partnership Deed of partners etc.
  6. Assets and liabilities statement of promoters and guarantors along with latest income tax returns.
  7. Rent Agreement (if business premises on rent) and clearance from pollution control board if applicable.
  8. SSI / MSME registration (if applicable)
  9. Projected balance sheets for the next two years in case of working capital limits and for the period of the loan in case of term loan.
  10. Photocopies of lease deeds/ title deeds of all the properties being offered as primary and collateral securities.
  11. Documents to establish whether the applicant belongs to SC/ST Category, wherever applicable.
  12. Certificate of incorporation from ROC to establish whether majority stake holding in the company is in the hands of a person who belongs to SC/ST/Woman category.
For cases with exposure above ₹ 25 Lakhs:
  1. Profile of the unit (includes names of promoters, other directors in the company, the activity being undertaken addresses of all offices and plants, shareholding pattern etc.
  2. Last three years balance sheets of the Associate / Group Companies (if any).
  3. Project report (for the proposed project if term funding is required) containing details of the machinery to be acquired, from whom to be acquired, price, names of suppliers, financial details like capacity of machines, capacity of utilization assumed, production, sales, projected profit and loss and balance sheets for the tenor of the loan, the details of labour, staff to be hired, basis of assumption of such financial details etc.
  4. Manufacturing process if applicable, major profile of executives in the company, any tie-ups, details about raw material used and their suppliers, details about the buyers, details about major-competitors and the company’s strength and weaknesses as compared to their competitors etc.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *